Vastu Ke Anusar Bedroom Ki Disha: किस दिशा में होना चाहिए आपके घर का बेडरूम?

Pankaj Pandey
9 Min Read

Vastu Ke Anusar Bedroom Ki Disha: वास्तु शास्त्र (Vastu Shastra) के अनुसार, हमारे घर का हर कोना, हर कमरा और उसमें रखी हर वस्तु हमारे जीवन पर गहरा प्रभाव डालती है। खासकर, बेडरूम जहाँ हम अपने दिन का एक बड़ा हिस्सा बिताते हैं, वहाँ वास्तु का विशेष महत्व है। 

WhatsApp Channel Join Now

एक सही दिशा और वास्तु सिद्धांतों के अनुसार बना बेडरूम न सिर्फ हमें गहन नींद देता है, बल्कि हमारे पारिवारिक जीवन में सुख-शांति भी लाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि वास्तु के अनुसार बेडरूम की सही दिशा क्या होनी चाहिए? बेडरूम का आकार-प्रकार कैसा हो? बेड कहाँ और कैसे लगाना चाहिए? इन छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देकर आप अपने वैवाहिक जीवन में मधुरता ला सकते हैं, तनाव और कलह से मुक्ति पा सकते हैं, और एक स्वस्थ जीवन जी सकते हैं। तो आइए, वास्तु शास्त्र की इस रहस्यमयी दुनिया में प्रवेश करते हैं और जानते हैं कि कैसे एक आदर्श बेडरूम बनाकर हम अपने जीवन में खुशहाली ला सकते हैं। 

इस लेख में हम आपको बताएंगे बेडरूम से जुड़े कुछ अहम वास्तु टिप्स, जो आपके लिए एक वरदान साबित हो सकते हैं। तो पढ़ते रहिए।

वास्तु शास्त्र के अनुसार बेडरूम किस दिशा में होना चाहिए?

वास्तु शास्त्र (Vastu Shastra) के अनुसार, मुख्य शयनकक्ष या मास्टर बेडरूम (Bedroom) घर के दक्षिण-पश्चिम (नैऋत्य) या उत्तर-पश्चिम (वायव्य) कोने में होना चाहिए। यदि घर में ऊपरी मंजिल है तो मास्टर बेडरूम ऊपरी मंजिल के दक्षिण-पश्चिम कोने में होना चाहिए। दक्षिण-पश्चिम कोने में शयनकक्ष होने से अच्छा स्वास्थ्य, दीर्घायु और समृद्धि मिलती है। वास्तु के अनुसार गेस्ट बेडरूम या बच्चों का बेडरूम उत्तर-पश्चिम दिशा में होना चाहिए। दक्षिण-पूर्व या उत्तर-पूर्व दिशा में बेडरूम नहीं होना चाहिए क्योंकि इससे स्वास्थ्य समस्याएं और परिवार में संघर्ष बढ़ सकता है।

WhatsApp Channel Join Now

इसे भी जरूर पढ़िए: Vastu Shastra Ke Anusar Ghar Ka Naksha

वास्तु के अनुसार बेडरूम का रंग कैसा होना चाहिए?

वास्तु शास्त्र (Vastu Shastra) के अनुसार बेडरूम (Bedroom) का रंग बहुत महत्वपूर्ण होता है। बेडरूम का रंग शांत और सुकून देने वाला होना चाहिए ताकि अच्छी नींद आ सके। वास्तु के हिसाब से बेडरूम के लिए हल्के रंग जैसे क्रीम, बेज, हल्का गुलाबी, हल्का हरा या नीला उपयुक्त माने जाते हैं। चमकीले या बहुत गहरे रंगों से बचना चाहिए क्योंकि वे नींद में खलल डाल सकते हैं। बेडरूम (Bedroom) की दिशा के हिसाब से भी रंग चुनना चाहिए। उदाहरण के लिए, उत्तर दिशा वाले बेडरूम के लिए नीला या हरा रंग उपयुक्त होगा, जबकि दक्षिण दिशा के लिए लाल या नारंगी। बेडरूम (Bedroom) के फर्नीचर और बिस्तर के कपड़े भी कमरे के रंग से मेल खाने चाहिए। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि बेडरूम का वातावरण शांत, सकारात्मक और आरामदायक हो।

वास्तु के अनुसार बेडरूम का विस्तार कैसा होना चाहिए?

“वास्तु शास्त्र (Vastu Shastra) के अनुसार, बिस्तर दक्षिण-पश्चिम दीवार पर होना चाहिए। बिस्तर और गद्दे न तो एकदम सख्‍त होने चाहिए और न एकदम मुलायम। जिस पलंग पर बिस्तर बिछाकर सो रहे हैं वह चौकोर या आयातकार होना चाहिए, टूटा नहीं होना चाहिए। बिस्तर, तकिया, चादर आदि फटे और गंदे नहीं होने चाहिए। बिस्तर कभी भी खिड़की से सटाकर न लगाएं। बिस्तर का रंग गुलाबी, हल्का पीला, नारंगी या क्रीम होना चाहिए। इससे रिश्तों में तनाव और नींद की समस्याएं दूर हो सकती हैं”।

WhatsApp Channel Join Now

इसे भी जरूर पढ़िए: Vastu Tips for Married Life

वास्तु के अनुसार बेडरूम का पलंग किस दिशा में होना चाहिए?

वास्तु शास्त्र (Vastu Shastra) के अनुसार, बेडरूम (Bedroom) में पलंग की सही दिशा का चुनाव करना बहुत महत्वपूर्ण है। विशेषज्ञों का सुझाव है कि पलंग का सिरहाना दक्षिण या पश्चिम दिशा की ओर होना चाहिए। इससे सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है और अच्छी नींद आती है। पूर्व या उत्तर दिशा में पैर करके सोने से स्वास्थ्य लाभ और आर्थिक समृद्धि मिलती है। हालांकि, दक्षिण-पूर्व और उत्तर-पूर्व दिशा में पलंग रखने से बचना चाहिए क्योंकि ये दिशाएं अशुभ मानी जाती हैं और परेशानियों को आमंत्रित करती हैं।

वास्तु के अनुसार घर में कौन सी वस्तुएं नहीं रखना चाहिए?

वास्तु शास्त्र (Vastu Shastra) के अनुसार बेडरूम में निम्नलिखित 5 चीजों को नहीं रखना चाहिए:

  • इलेक्ट्रॉनिक उपकरण: कंप्यूटर और टेलीविजन जैसे इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को बेडरूम (Bedroom) से दूर रखने की सलाह दी जाती है क्योंकि वे अग्नि तत्व से जुड़े होते हैं, जो रिश्तों में गड़बड़ी पैदा कर सकते हैं।
  • आक्रामक पशुओं की तस्वीरें और मूर्तियाँ: बेडरूम में आक्रामक पशुओं की तस्वीरें या मूर्तियाँ रखने से दंपति के बीच गलतफहमी और संघर्ष हो सकता है।
  • एकाधिक बिस्तर और गद्दे: एक कमरे में एक से अधिक बिस्तर या गद्दा रखने, या एक बिस्तर पर दो गद्दे रखने का रिश्तों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।
  • गंदा बाथरूम: यदि बाथरूम बेडरूम से जुड़ा हो, तो उसे साफ और सूखा रखना महत्वपूर्ण है, क्योंकि उसकी नमी वित्तीय समस्याएं पैदा कर सकती है।
  • बेड का स्थान: बेड को कमरे के केंद्र में नहीं रखना चाहिए, क्योंकि इससे सकारात्मक ऊर्जा के प्रवाह में बाधा उत्पन्न हो सकती है। बेड को कमरे की दक्षिण या पश्चिम दिशा में रखने की भी सलाह दी जाती है।

Summary 

वास्तु शास्त्र (Vastu Shastra) के अनुसार अपने बेडरूम को डिजाइन करने से आपको शांत और सुखद नींद, बेहतर स्वास्थ्य और समृद्धि प्राप्त करने में मदद मिल सकती है। 

Disclaimer: हमारे द्वारा लिखा गया यह विशेष लेख वास्तु शास्त्र और मान्यताओं पर आधारित है, हमारी वेबसाइट इन सभी उपायों की पुष्टि नहीं करती है इसलिए इन सभी उपायों को अमल में लाने से पहले विशेषज्ञों से सलाह जरूर लें।

Frequently Asked Questions

वास्तु के अनुसार बेडरूम किस दिशा में होना चाहिए? 

वास्तु शास्त्र (Vastu Shastra) के अनुसार मुख्य शयन कक्ष घर के दक्षिण-पश्चिम या उत्तर-पश्चिम की ओर होना चाहिए। अगर घर में ऊपरी मंजिल है तो मास्टर बेडरूम ऊपरी मंजिल के दक्षिण-पश्चिम कोने में होना चाहिए।

शयन कक्ष में सोते समय किस दिशा में सिर होना चाहिए?

शयन कक्ष (Vastu Shastra) में सोते समय हमेशा सिर दीवार से सटाकर सोना चाहिए। पैर दक्षिण और पूर्व दिशा में करके नहीं सोना चाहिए। उत्तर दिशा की ओर पैर करके सोने से स्वास्थ्य लाभ तथा आर्थिक लाभ की संभावना रहती है।

बेडरूम का आकार-प्रकार कैसा होना चाहिए? 

वास्तु (Vastu Shastra) के अनुसार शयनकक्ष चौकोर होना चाहिए। बेडरूम की छत गोल नहीं होनी चाहिए। बेडरूम में अटैच्ड टॉयलेट नहीं होना चाहिए। अगर इस्तेमाल में न हो तो अटैच्ड टॉयलेट का दरवाजा बंद रखें।

बेडरूम का रंग कैसा होना चाहिए? 

वास्तु के अनुसार बेडरूम को ऑफ-व्हाइट, बेबी पिंक या क्रीम कलर से पेंट करना चाहिए। गहरे रंगों से बचना चाहिए। शयनकक्ष साफ सुथरा होना चाहिए। पर्दे, चादर, तकिया, रजाई गादी आदि सभी के रंग भी वास्तु के अनुसार ही रखें।

बेडरूम का दरवाजा किस दिशा में होना चाहिए? 

वास्तु के अनुसार बेडरूम का दरवाजा दक्षिण-पूर्व या उत्तर-पूर्व दिशा में होना चाहिए। इससे वैवाहिक जीवन में सुख और शांति बनी रहती है। बेडरूम का दरवाजा कभी भी दक्षिण-पश्चिम दिशा में नहीं होना चाहिए।

बेडरूम में क्या-क्या नहीं रखना चाहिए? 

बेडरूम में भूलकर भी पानी से संबंधित चित्र नहीं लगाना चाहिए। इसके अलावा बेडरूम में टूटी-फूटी चीजें, अनावश्यक सामान, धार वाली वस्तुएं नहीं रखनी चाहिए।

pankaj-profile-image

दोस्तों मेरा नाम पंकज पांडे है। में एक आर्ट्स का स्टूडेंट हूँ। मेने मेरे पिताजी से एस्ट्रोलॉजी, भविष्यवाणी जैसी चीजे सीखी है। और इस न्यूज़ वेबसाइट पर में राशिफल और वास्तु शास्त्र से जुड़े आर्टिकल लिखता हूँ। मुझे इस तरह की जानकारी लोगों के साथ शेयर करना काफी अच्छा लगता है।

Share This Article
Leave a comment