Rajeshwari Kumari Biography: जानिए कौन है राजेश्वरी कुमारी जिन्होंने निशानेबाजी में हासिल किया है भारत का सातवां पेरिस ओलंपिक कोटा

Pankaj Pandey
12 Min Read

Rajeshwari Kumari Biography: राजेश्वरी कुमारी (Rajeshwari Kumari)- एक ऐसा नाम जो भारतीय निशानेबाजी के इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में लिखा गया है। एक साधारण परिवार से निकलकर अपने अथक परिश्रम और लगन से उन्होंने न सिर्फ खुद को साबित किया बल्कि पूरे देश का नाम रोशन किया। राजेश्वरी ने अपने करियर की शुरुआत एक छोटी सी उम्र में की थी, लेकिन उनके अंदर छिपी प्रतिभा और जुनून ने उन्हें कभी पीछे नहीं हटने दिया।

WhatsApp Channel Join Now

उनके संघर्ष और सफलता की कहानी हर युवा के लिए प्रेरणा का स्रोत है। राजेश्वरी ने सिर्फ मेडल ही नहीं जीते बल्कि लाखों लड़कियों के लिए एक मिसाल कायम की कि सपने देखने और उन्हें पूरा करने के लिए कोई उम्र छोटी नहीं होती। उनका सफर आसान नहीं था, लेकिन उन्होंने कभी हार नहीं मानी और हर चुनौती का डटकर सामना किया। राजेश्वरी की कहानी सिर्फ एक खिलाड़ी की नहीं, बल्कि एक ऐसी बेटी, बहन और प्रेरणा की है जिसने समाज की रूढ़िवादी सोच को चुनौती दी और अपने हुनर से दुनिया को अपना मुरीद बनाया। वह एक ऐसी मिसाल हैं जो हमें सिखाती हैं कि जब आप किसी चीज के लिए अपना सौ प्रतिशत देते हैं तो कोई भी लक्ष्य असंभव नहीं होता।

आइए, राजेश्वरी कुमारी के इस शानदार सफर के बारे में विस्तार से जानते हैं और उनसे कुछ सीखते हैं। उनकी कहानी न सिर्फ आपको प्रेरित करेगी बल्कि जीवन को एक नई दिशा भी देगी। तो चलिए, शुरू करते हैं राजेश्वरी कुमारी की इस अनोखी और प्रेरणादायक कहानी को…

Overview Table for Rajeshwari Kumari 

टॉपिकRajeshwari Kumari Biography
लेख प्रकारआर्टिकल
भाषाहिंदी
वर्ष2024
नामराजेश्वरी कुमारी
जन्म10 दिसंबर 1991
जन्म स्थानदिल्ली, भारत
आयु32 वर्ष
कार्यमहिला ट्रैप निशानेबाज
पिता का नाम रणधीर सिंह
इंस्टाग्राम प्रोफाइल👉 Click Me
ट्विटर प्रोफाइल👉 Click Me

राजेश्वरी कुमारी कौन हैं? (Who is Rajeshwari Kumari?)

राजेश्वरी कुमारी (Rajeshwari Kumari) भारत (India) की एक प्रतिभाशाली महिला ट्रैप निशानेबाज हैं। उन्होंने हाल ही में आईएसएसएफ विश्व चैंपियनशिप में शानदार प्रदर्शन करते हुए भारत के लिए पेरिस ओलंपिक 2024 का सातवां कोटा हासिल किया है। वह पूर्व ओलंपियन और एशियाई ओलंपिक परिषद के कार्यवाहक अध्यक्ष रणधीर सिंह की बेटी हैं। 31 वर्षीय राजेश्वरी ने क्वालीफिकेशन राउंड में 125 में से 120 अंक हासिल कर फाइनल में प्रवेश किया। हालांकि फाइनल में वह पदक से चूक गईं और 5वें स्थान पर रहीं, लेकिन उन्होंने ओलंपिक कोटा जीतकर देश का नाम रोशन किया।

WhatsApp Channel Join Now

इसे भी जरूर पढ़िए: Sift Kaur Samra Biography

राजेश्वरी कुमारी का जीवन परिचय (Biography of Rajeshwari Kumari)

राजेश्वरी कुमारी (Rajeshwari Kumari) भारत की एक प्रमुख महिला ट्रैप निशानेबाज हैं जिन्होंने अपने शानदार प्रदर्शन से देश को गौरवान्वित किया है। उन्होंने हाल ही में एक बड़ी उपलब्धि हासिल करते हुए भारत को निशानेबाजी में सातवां ओलंपिक कोटा दिलाया है।

राजेश्वरी का जन्म राजस्थान के झुंझुनू जिले में हुआ था। बचपन से ही उन्हें खेलों में रुचि थी और उन्होंने कई खेलों में अपना हाथ आजमाया। हालांकि, निशानेबाजी के प्रति उनका लगाव कुछ खास रहा और उन्होंने इसे अपना करियर बनाने का फैसला किया। अपने करियर की शुरुआत में राजेश्वरी ने कई चुनौतियों का सामना किया, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। अपनी कड़ी मेहनत और लगन से उन्होंने धीरे-धीरे सफलता की सीढ़ियां चढ़नी शुरू कीं। 2018 में उन्होंने जकार्ता एशियन गेम्स में रजत पदक जीता और देश को गौरवान्वित किया। इसके बाद राजेश्वरी ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। उन्होंने लगातार अच्छा प्रदर्शन करते हुए कई अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में पदक जीते। 2019 में उन्होंने दोहा विश्व कप में स्वर्ण पदक अपने नाम किया। हाल ही में, राजेश्वरी ने इतिहास रच दिया जब उन्होंने भारत को निशानेबाजी में सातवां ओलंपिक कोटा दिलाया। उनकी इस उपलब्धि से पूरा देश गौरवान्वित हुआ है। उनके इस प्रदर्शन से यह उम्मीद जगी है कि आने वाले समय में वह ओलंपिक में भी पदक जीतकर देश का नाम रोशन करेंगी। 

WhatsApp Channel Join Now

राजेश्वरी न सिर्फ एक उत्कृष्ट खिलाड़ी हैं, बल्कि एक प्रेरणादायक व्यक्तित्व भी हैं। वह युवा खिलाड़ियों को हमेशा प्रोत्साहित करती हैं और उन्हें अपने सपनों को पूरा करने के लिए प्रेरित करती हैं। अपनी सफलता के बावजूद वह हमेशा विनम्र रही हैं और अपने देश व परिवार को अपनी सफलता का श्रेय देती हैं।

राजेश्वरी कुमारी विकिपीडिया (Rajeshwari Kumari Wikipedia)

राजेश्वरी रिया कुमारी (जन्म 10 दिसंबर 1991) एक भारतीय खेल निशानेबाज और फैशन डिजाइनर हैं । कुमारी एक ट्रैप शूटर हैं और उन्होंने घरेलू और अंतरराष्ट्रीय दोनों प्रतियोगिताओं में पदक जीते हैं। उन्होंने हांग्जो में 2022 एशियाई खेलों में महिला ट्रैप टीम स्पर्धा में रजत पदक जीता । 2024 में, कुमारी ने पेरिस में 2024 ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में महिला ट्रैप स्पर्धा के लिए क्वालीफाई किया। 2024 तक, वह दुनिया की 9वीं रैंक वाली महिला ट्रैप शूटर हैं। कुमारी सौरब राजेश्वरी की सह-संस्थापक हैं, जो 2021 में स्थापित एक लक्जरी भारतीय कपड़े और कढ़ाई ब्रांड है । कुमारी ने अपने ट्रैप शूटिंग करियर की शुरुआत 2014 से कुछ समय पहले की थी । नवंबर 2014 में, उन्होंने पंजाब के पटियाला में नेशनल शॉटगन चैंपियनशिप में श्रेयसी सिंह को हराकर कांस्य पदक जीता। फरवरी 2015 में, उन्होंने नई दिल्ली , भारत में आयोजित राष्ट्रीय शूटिंग चैंपियनशिप में रजत पदक जीता। 2019 में 63वीं राष्ट्रीय शॉटगन शूटिंग चैंपियनशिप के दौरान, कुमारी ने क्वालिफिकेशन में 125 में से 118 का राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया और अंततः रजत पदक जीता। 2021 में, उन्होंने नई दिल्ली में एशियाई ऑनलाइन शूटिंग चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीता।nइसके अलावा 2021 में, उन्होंने काहिरा , मिस्र में 2021 आईएसएसएफ विश्व कप में टीम ट्रैप स्पर्धा में रजत पदक जीता , और कीर्ति गुप्ता और मनीषा कीर के साथ एक टीम में थीं । 

2022 में, कुमारी को दो ओलंपिक पदक जीतने वाले चेक निशानेबाज डेविड कोस्टेलेकी द्वारा प्रशिक्षित किया जाना शुरू हुआ। 2022 में राष्ट्रीय शूटिंग चैंपियनशिप में, कुमारी ने क्वालिफिकेशन राउंड में 125 में से 116 अंक हासिल करते हुए सर्वोच्च स्कोर बनाया, हालांकि वह प्रतियोगिता के सेमीफाइनल में हार गईं। मार्च 2023 में, कुमारी ने 107 का स्कोर बनाया और 2023 आईएसएसएफ विश्व कप के दोहा , कतर चरण में 46वें स्थान पर रहीं । अप्रैल 2023 में, उन्होंने दिल्ली में टी3 शॉटगन राष्ट्रीय चयन ट्रायल जीता। मई 2023 में, कुमारी 2023 आईएसएसएफ विश्व कप के काहिरा चरण में 14वें स्थान पर रहीं। 

मार्च 2024 में, कुमारी ने पेरिस में 2024 ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में महिला ट्रैप स्पर्धा के लिए क्वालीफाई किया। अप्रैल 2024 में, उन्हें युवा मामले और खेल मंत्रालय (एमवाईएएस) टारगेट ओलंपिक पोडियम स्कीम (टॉप्स) के लिए चुना गया, जो ओलंपिक खेलों की प्रतियोगिताओं के लिए एथलीटों को उनकी तैयारी में सहायता करती है। 2024 में, कुमारी को दुनिया की 9वीं सर्वश्रेष्ठ महिला ट्रैप शूटर के रूप में स्थान दिया गया था। 2024 ग्रीष्मकालीन ओलंपिक से पहले, कुमारी ने अपने कोच, कोस्टेलेकी के साथ इटली में प्रशिक्षण लेना शुरू किया। 

राजेश्वरी कुमारी का परिवार (Rajeshwari Kumari’s family)

राजेश्वरी कुमारी एक प्रसिद्ध भारतीय ट्रैप निशानेबाज हैं जो पटियाला शाही परिवार से ताल्लुक रखती हैं। उनका जन्म एक ऐसे परिवार में हुआ जहां एथलीट और निशानेबाज होना एक परंपरा सी है। राजेश्वरी के पिता रणधीर सिंह एक दिग्गज निशानेबाज रहे हैं जिन्होंने 1968 से 1984 तक लगातार पांच ओलंपिक खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व किया था। रणधीर सिंह एशियाई ओलंपिक परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष भी हैं। 1982 के एशियाई खेलों में जब रणधीर ने स्वर्ण पदक जीता था, तब उन्हें यह पदक उनके पिता भालिंदर सिंह ने प्रदान किया था जो उस समय एशियाई खेल महासंघ के अध्यक्ष थे। 32 वर्षीय राजेश्वरी ने हाल ही में 2024 पेरिस ओलंपिक के लिए कोटा हासिल किया है। वह ट्रैप स्पर्धा में ओलंपिक कोटा पाने वाली शगुन चौधरी के बाद दूसरी भारतीय महिला निशानेबाज बनीं हैं। इस तरह राजेश्वरी अपने पूर्वजों की शानदार विरासत को आगे बढ़ा रही हैं।

राजेश्वरी कुमारी की प्रारंभिक शिक्षा (Rajeshwari Kumari primary education)

राजेश्वरी कुमारी (Rajeshwari Kumari) का जन्म एक खेल परिवार में हुआ। उनके पिता रणधीर सिंह एशियाई ओलंपिक परिषद के कार्यवाहक अध्यक्ष हैं। हालांकि, राजेश्वरी की प्रारंभिक शिक्षा के बारे में उपलब्ध सूत्रों में विशेष जानकारी नहीं मिली।

32 वर्षीय राजेश्वरी ने हाल ही में बाकू में आयोजित ISSF विश्व चैंपियनशिप 2023 में महिला ट्रैप स्पर्धा में पांचवां स्थान हासिल करते हुए भारत के लिए पेरिस 2024 ओलंपिक का सातवां कोटा हासिल किया। वह शगुन चौधरी के बाद इस स्पर्धा में ओलंपिक कोटा पाने वाली दूसरी भारतीय महिला हैं। राजेश्वरी ने क्वालीफाइंग राउंड में 120/125 का स्कोर किया और फाइनल में 30 शॉट में से 19 निशाने पर लगाए। उन्होंने कहा, “मुझे बहुत अच्छा लग रहा है। यह अविश्वसनीय है। आखिर कोटा मिल गया।” भारत ने अब तक बाकू चैंपियनशिप में निशानेबाजी में 7 ओलंपिक कोटा और 10 पदक जीते हैं। राजेश्वरी की इस उपलब्धि ने भारत को पेरिस खेलों की तैयारियों में और मजबूती प्रदान की है।

निष्कर्ष 

राजेश्वरी कुमारी (Rajeshwari Kumari) ने अभी शुरुआत ही की है, और उनका भविष्य उज्ज्वल दिखाई दे रहा है। वह निश्चित रूप से आने वाले वर्षों में भारत के लिए और अधिक पदक जीतेंगी और देश को गौरवान्वित करेंगी। राजेश्वरी कुमारी न केवल एक कुशल निशानेबाज हैं, बल्कि एक प्रेरणा भी हैं। वह युवा पीढ़ी को सपने देखने और उन्हें पूरा करने के लिए प्रेरित करती हैं।

Frequently Asked Questions

कौन हैं राजेश्वरी कुमारी?

राजेश्वरी कुमारी भारतीय महिला ट्रैप निशानेबाज हैं, जिन्होंने पैरिस 2024 ओलंपिक्स के लिए क्वालीफाई किया है।

राजेश्वरी कुमारी ने किस ओलंपिक इवेंट के लिए क्वालीफाई किया है?

राजेश्वरी कुमारी ने पैरिस 2024 ओलंपिक्स के लिए महिलाओं की ट्रैप निशानेबाजी इवेंट के लिए क्वालीफाई किया है।

राजेश्वरी कुमारी ने पैरिस 2024 ओलंपिक्स के लिए कैसे क्वालीफाई किया?

राजेश्वरी कुमारी ने ISSF वर्ल्ड चैंपियनशिप 2023 में महिलाओं की ट्रैप इवेंट में सातवीं स्थान पर रहकर पैरिस 2024 ओलंपिक्स के लिए क्वालीफाई किया।

राजेश्वरी कुमारी की विश्व चैंपियनशिप में सबसे अच्छी प्रदर्शन की विवरण क्या है?

राजेश्वरी कुमारी ने विश्व चैंपियनशिप में अपनी सबसे अच्छी प्रदर्शन की जब उन्होंने फाइनल में 30 शॉट्स में से 19 हिट किए और 125 में से 120 अंक प्राप्त किए।

pankaj-profile-image

दोस्तों मेरा नाम पंकज पांडे है। में एक आर्ट्स का स्टूडेंट हूँ। मेने मेरे पिताजी से एस्ट्रोलॉजी, भविष्यवाणी जैसी चीजे सीखी है। और इस न्यूज़ वेबसाइट पर में राशिफल और वास्तु शास्त्र से जुड़े आर्टिकल लिखता हूँ। मुझे इस तरह की जानकारी लोगों के साथ शेयर करना काफी अच्छा लगता है।

Share This Article
Leave a comment