Bhowneesh Mendiratta Biography: ट्रैप शूटर भौनीश मेंदीरत्ता ने भारत के लिए पहला कोटा स्थान प्राप्त किया

Pankaj Pandey
10 Min Read

निशानेबाज भौनीश मेंदीरत्ता ने बुधवार को क्रोएशिया के ओसिजेक में आयोजित ISSF शॉटगन विश्व चैंपियनशिप 2022 में पुरुषों के ट्रैप फाइनल में चौथे स्थान पर रहकर पेरिस 2024 ओलंपिक के लिए भारत का पहला कोटा स्थान प्राप्त किया। शॉटगन विश्व चैंपियनशिप पेरिस 2024 ओलंपिक के लिए एक क्वालीफाइंग इवेंट है, जहां प्रत्येक व्यक्तिगत स्पर्धा में शीर्ष चार एथलीटों को कोटा स्थान मिलता है।

WhatsApp Channel Join Now

हालांकि, कोटा स्थान जीतने से भौनीश मेंदीरत्ता की पेरिस समर ओलंपिक में भागीदारी की पुष्टि नहीं होती है। यह कोटा स्थान भारतीय टीम के लिए अर्जित किया जाता है और राष्ट्रीय राइफल एसोसिएशन ऑफ इंडिया (NRAI) द्वारा आयोजित राष्ट्रीय ट्रायल्स के माध्यम से यह निर्धारित किया जाएगा कि किस निशानेबाज को फ्रांस की राजधानी पेरिस में आयोजित होने वाले ओलंपिक खेलों में भाग लेने का मौका मिलेगा।

विशेषताविवरण
पूरा नामभौनीश मेंदीरत्ता
जन्म तिथि30 जून 1999
आयु24 वर्ष 11 महीने
निवास स्थानफरीदाबाद, भारत
ऊँचाई178 सेमी
वजन69 किग्रा
पेशाछात्र
राष्ट्रीय कोचविक्रम सिंह चोपड़ा
हाथदायां
जन्म स्थानफरीदाबाद, भारत
गृह नगरफरीदाबाद, भारत
वैवाहिक स्थितिअविवाहित
उच्च शिक्षादिल्ली विश्वविद्यालय
भाषाएँअंग्रेजी, हिंदी

कौन है भौनीश मेंदीरत्ता

23 वर्षीय भौनीश मेंदीरत्ता, जो फरीदाबाद से हैं और जूनियर एशियाई चैंपियनशिप में रजत पदक विजेता रह चुके हैं, ने हाल ही में सीनियर स्तर पर प्रतिस्पर्धा शुरू की थी। उन्होंने इस साल की शुरुआत में दक्षिण कोरिया के चांगवोन में आयोजित ISSF विश्व कप में रजत पदक जीता था।

भौनीश मेंदीरत्ता एक प्रभावशाली खिलाडी 

अपनी पहली सीनियर विश्व चैंपियनशिप में हिस्सा लेते हुए, भौनीश मेंदीरत्ता ने क्वालिफिकेशन राउंड में 121 के स्कोर के साथ चौथा स्थान प्राप्त किया और रैंकिंग मुकाबले में प्रवेश किया।

WhatsApp Channel Join Now

रैंकिंग मुकाबले में उन्होंने संयुक्त राज्य अमेरिका के डेरिक स्कॉट मीन, कतर के राशिद हमाद और इंग्लैंड के आरोन हेडिंग (सभी ओलंपियन) के खिलाफ 24/25 का प्रभावशाली स्कोर बनाकर शीर्ष स्थान हासिल किया और पदक मैच के लिए अपनी जगह पक्की की। इसके साथ ही भारत के लिए पहले ओलंपिक कोटा स्थान की पुष्टि हो गई।

हालांकि, भौनीश मेंदीरत्ता पदक राउंड में 13 के स्कोर के साथ चौथे स्थान पर रहे और विश्व चैंपियनशिप में पदक जीतने से चूक गए। डेरिक स्कॉट ने इंग्लैंड के नाथन हेल्स और चीनी ताइपे के कुन-पी यांग को पछाड़ते हुए स्वर्ण पदक जीता।

23 वर्षीय भौनीश मेंदीरत्ता: भारत के लिए पहला ओलंपिक कोटा स्थान हासिल किया

23 वर्षीय भौनीश मेंदीरत्ता, जो फरीदाबाद से हैं और जूनियर एशियाई चैंपियनशिप में रजत पदक विजेता रह चुके हैं, ने हाल ही में सीनियर स्तर पर प्रतिस्पर्धा शुरू की थी। उन्होंने इस साल की शुरुआत में दक्षिण कोरिया के चांगवोन में आयोजित ISSF विश्व कप में रजत पदक जीता था।

WhatsApp Channel Join Now

अपनी पहली सीनियर विश्व चैंपियनशिप में हिस्सा लेते हुए, भौनीश मेंदीरत्ता ने क्वालिफिकेशन राउंड में 121 के स्कोर के साथ चौथा स्थान प्राप्त किया और रैंकिंग मुकाबले में प्रवेश किया।

रैंकिंग मुकाबले में उन्होंने संयुक्त राज्य अमेरिका के डेरिक स्कॉट मीन, कतर के राशिद हमाद और इंग्लैंड के आरोन हेडिंग (सभी ओलंपियन) के खिलाफ 24/25 का प्रभावशाली स्कोर बनाकर शीर्ष स्थान हासिल किया और पदक मैच के लिए अपनी जगह पक्की की। इसके साथ ही भारत के लिए पहले ओलंपिक कोटा स्थान की पुष्टि हो गई।

प्रारंभिक जीवन

भौनीश मेंदीरत्ता, जिनका जन्म और पालन-पोषण फरीदाबाद में हुआ, ने अपने प्रारंभिक जीवन में खेलों में विशेष रुचि नहीं दिखाई। लेकिन 2014 में कुछ ऐसा हुआ जिसने उन्हें शूटिंग में रुचि लेने के लिए प्रेरित किया। 2016 में उन्होंने शूटिंग प्रतियोगिताओं में भाग लेना शुरू किया और 2017 में दिल्ली पब्लिक स्कूल, फरीदाबाद से हाई स्कूल की पढ़ाई पूरी की। इसके बाद वे स्नातक की पढ़ाई के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय गए, लेकिन उनका मुख्य ध्यान हमेशा शूटिंग पर ही रहा। अब वे अपने सपने को साकार करने के एक कदम और करीब हैं।

शूटिंग करियर

भौनीश मेंदीरत्ता ने अपने शूटिंग करियर की शुरुआत डबल ट्रैप शूटर के रूप में की थी, लेकिन जब इस श्रेणी को ओलंपिक से हटा दिया गया, तो उन्होंने ट्रैप श्रेणी की ओर ध्यान केंद्रित किया। उनके राष्ट्रीय कोच, विक्रम सिंह चोपड़ा, ने मेंदीरत्ता के शूटिंग करियर और उनकी सफलता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

भौनीश मेंदीरत्ता की शूटिंग में पहली बड़ी उपलब्धि 2022 में आई, जब उन्होंने ISSF विश्व कप में टीम इवेंट में ट्रैप प्रतियोगिता में रजत पदक जीता। 2022 उनके करियर का महत्वपूर्ण वर्ष रहा, क्योंकि उसी वर्ष उन्होंने 2024 पेरिस ओलंपिक के लिए कोटा स्थान प्राप्त किया। उन्होंने 2022 की विश्व शॉटगन चैंपियनशिप में चौथा स्थान हासिल कर पेरिस के लिए अपनी जगह सुनिश्चित की।

भौनीश मेंदीरत्ता की वर्तमान स्तिथि 

भौनीश मेंदीरत्ता वर्तमान में पुरुषों की ट्रैप शूटिंग श्रेणी में विश्व रैंकिंग में 26वें स्थान पर हैं। पिछले कुछ वर्षों में उनकी उल्लेखनीय प्रगति को देखते हुए, भारत को उनसे ओलंपिक में उत्कृष्ट प्रदर्शन की बड़ी उम्मीदें हैं। भौनीश मेंदीरत्ता ने पेरिस 2024 ओलंपिक के लिए भारत का पहला कोटा स्थान अर्जित किया

भौनीश मेंदीरत्ता ने क्रोएशिया के ओसिजेक में चल रही ISSF शॉटगन विश्व चैंपियनशिप में पुरुषों की ट्रैप प्रतियोगिता में चौथा स्थान प्राप्त कर पेरिस 2024 ओलंपिक के लिए भारत का पहला कोटा स्थान हासिल किया।

मेंदीरत्ता ने 35-शॉट के पदक मैच में पहले 15 हिट में से 13 हिट्स के साथ बाहर होकर विश्व चैंपियनशिप पदक से मामूली अंतर से चूक गए। उस दिन पुरुषों और महिलाओं की ट्रैप इवेंट में प्रत्येक के लिए चार-चार कोटा स्थान थे।

फरीदाबाद के 23 वर्षीय, जो फाइनल से पहले विश्व रैंकिंग में 144वें स्थान पर थे, ने 25 में से 24 हिट के शानदार स्कोर के साथ दूसरे रैंकिंग राउंड मैच में शीर्ष स्थान प्राप्त कर पेरिस ओलंपिक के लिए कोटा हासिल किया।

यह मेंदीरत्ता का उत्कृष्ट प्रदर्शन था, जिनका इससे पहले विश्व स्तर पर केवल एक सीनियर पदक, चांगवोन विश्व कप में टीम सिल्वर, था।

कोटा स्थान दांव पर होने के साथ, मेंदीरत्ता ने सीधे 10 टारगेट हिट किए और राउंड में शीर्ष स्थान प्राप्त कर कोटा हासिल किया। मीन ने अपने अंतिम तीन टारगेट मिस किए और अल-अथबा के साथ शूट-ऑफ में गए, जिसे उन्होंने पहले शॉट पर जीत लिया।

फाइनल में उनके साथ ब्रिटेन के नाथन हेल्स और चीनी ताइपे के कुन पी-यांग थे, जिन्होंने 123 के स्कोर के साथ क्वालिफिकेशन राउंड में शीर्ष स्थान प्राप्त किया था। हेल्स ने पहले रैंकिंग राउंड में जीत हासिल की जबकि यांग दूसरे स्थान पर रहे।

मेंदीरत्ता ने फाइनल में भी शानदार शुरुआत की, लेकिन अंतिम पांच-शॉट श्रृंखला में एक महत्वपूर्ण बर्ड को मिस कर दिया। मीन ने 33 हिट्स के साथ स्वर्ण पदक जीता, जबकि हेल्स ने 31 हिट्स के साथ रजत पदक जीता। यांग ने 25-शॉट चरण में 23 हिट्स के साथ बाहर हो गए। सभी तीन पदक विजेताओं ने अपने देशों के लिए अन्य तीन कोटा स्थान भी हासिल किए।

अन्य खिलाडियों की स्थिति 

अन्य भारतीयों में, अनुभवी पृथ्वीराज टोंडईमान ने 119 का स्कोर करके 22वें स्थान पर रहे और रैंकिंग राउंड के लिए शूट-ऑफ में कम से कम जगह बनाने से मामूली अंतर से चूक गए। रैंकिंग राउंड में जाने के लिए अंतिम दो स्कोर 120 थे। विवान कपूर 107 के स्कोर के साथ 119वें स्थान पर रहे।

महिलाओं की ट्रैप में भारत ने ज्यादा प्रगति नहीं की, नीरो ने 111 के स्कोर के साथ 29वां स्थान प्राप्त किया, श्रेयसी सिंह ने 110 के स्कोर के साथ 35वां स्थान प्राप्त किया और मनीषा कीर 102 हिट्स के साथ 61वें स्थान पर रहीं।

फ्रांस की कैरोल कॉर्मेनियर ने इस इवेंट में स्वर्ण पदक जीता। फ्रांस, स्पेन, स्लोवाकिया और ऑस्ट्रेलिया ने पेरिस ओलंपिक के लिए कोटा स्थान प्राप्त किया।

भारत वर्तमान में एक स्वर्ण पदक के साथ पदक तालिका में संयुक्त चौथे स्थान पर है।

भौनीश मेंदीरत्ता के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

भौनीश मेंदीरत्ता कौन हैं?  

भौनीश मेंदीरत्ता एक प्रसिद्ध व्यक्ति हैं जिनकी पहचान उनके विशेष योगदान के लिए होती है।

भौनीश मेंदीरत्ता का पेशा क्या है?  

 वे एक पेशेवर (उदाहरण: लेखक, कलाकार, या व्यवसायी) हैं।

भौनीश मेंदीरत्ता की शिक्षा कहाँ से हुई है?  

उन्होंने अपनी शिक्षा (उदाहरण: दिल्ली विश्वविद्यालय, IIT, आदि) से प्राप्त की है।

भौनीश मेंदीरत्ता का मुख्य कार्यक्षेत्र क्या है?  

 उनका मुख्य कार्यक्षेत्र (उदाहरण: साहित्य, कला, तकनीकी, आदि) है।

भौनीश मेंदीरत्ता की प्रमुख उपलब्धियाँ क्या हैं?  

उन्होंने (उदाहरण: पुरस्कार, प्रसिद्ध रचनाएँ, महत्वपूर्ण परियोजनाएँ) प्राप्त की हैं।

pankaj-profile-image

दोस्तों मेरा नाम पंकज पांडे है। में एक आर्ट्स का स्टूडेंट हूँ। मेने मेरे पिताजी से एस्ट्रोलॉजी, भविष्यवाणी जैसी चीजे सीखी है। और इस न्यूज़ वेबसाइट पर में राशिफल और वास्तु शास्त्र से जुड़े आर्टिकल लिखता हूँ। मुझे इस तरह की जानकारी लोगों के साथ शेयर करना काफी अच्छा लगता है।

Share This Article
2 Comments