Akashdeep Singh Biography: संघर्ष की कहानी जानकर आप रह जाएंगे हैरान!

Pankaj Pandey
11 Min Read

Akashdeep Singh Biography: आकाशदीप सिंह (Akashdeep Singh), एक युवा और प्रतिभाशाली भारतीय एथलीट, ने पेरिस 2024 ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करके देश का नाम रोशन किया है। 20 किलोमीटर रेसवॉक में उनकी उपलब्धि ने भारत के लिए एक नया मानदंड स्थापित किया है। 

आकाशदीप (Akashdeep Singh) का सफर प्रेरणादायक और चुनौतीपूर्ण रहा है, जिसमें कड़ी मेहनत, समर्पण और दृढ़ संकल्प शामिल हैं। इस लेख में, हम आकाशदीप सिंह के जीवन और करियर पर एक गहरी नज़र डालेंगे। हम उनकी शुरुआती जिंदगी, प्रशिक्षण, और उन बाधाओं के बारे में जानेंगे जो उन्होंने अपने सपनों को साकार करने के लिए पार की हैं। हम उनकी उपलब्धियों, रणनीति और भविष्य की योजनाओं पर भी चर्चा करेंगे। आकाशदीप सिंह की कहानी न केवल खेल प्रेमियों के लिए, बल्कि हर उस व्यक्ति के लिए प्रेरणा का स्रोत है जो अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए संघर्ष कर रहा है। 

तो, आइए आकाशदीप (Akashdeep Singh) के साथ इस रोमांचक यात्रा पर निकलते हैं और जानते हैं कि कैसे एक साधारण से लड़के ने अपनी मेहनत और लगन से ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करके इतिहास रच दिया।

टॉपिकAkashdeep Singh Biography
भाषाहिंदी
लेख प्रकारआर्टिकल
वर्ष2024
नामआकाशदीप सिंह
जन्म22 नवंबर 1999
जन्म स्थानपंजाब
आयु23 वर्ष
कार्यपैदल चाल एथलीट
इंस्टाग्राम प्रोफ़ाइल 👉 Click ME

आकाशदीप सिंह कौन हैं? (Who is Akshdeep Singh?)

आकाशदीप सिंह (Akashdeep Singh), एक उभरते हुए तारे के रूप में, पैदल चाल धावक की दुनिया में अपनी पहचान बना रहे हैं। उन्होंने विभिन्न राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्पर्धाओं में सफलता हासिल की है, और वे विशेष रूप से 10मी एयर राइफल इवेंट में निरंतर अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं, जिसमें भारत को पेरिस 2024 ओलंपिक के लिए कोटा स्थान प्राप्त करने की संभावना है। उनके हालिया प्रदर्शनों में, 63वें राष्ट्रीय पैदल चाल चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने सहित, उन्हें भारतीय पैदल चाल टीम में स्थान मिला है और ओलंपिक में क्वालिफाई होने की उनकी संभावनाएं बढ़ी हैं। आकाशदीप की संकल्पना, कठिनाई, और प्रतिभा को देखते हुए, वे पेरिस 2024 के लिए क्वालिफाई होने की दौड़ में निश्चित रूप से ध्यान देने वाले हैं।

इसे भी जरूर पढ़िए: Priyanka Goswami Biography

आकाशदीप सिंह का जीवन परिचय (Biography of Akshdeep Singh)

आकाशदीप सिंह (Akashdeep Singh) एक प्रतिभाशाली भारतीय पैदल चाल एथलीट हैं जिन्होंने 2024 पेरिस ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर लिया है। उनकी कहानी प्रेरणादायक और उल्लेखनीय है।

आकाशदीप का जन्म पंजाब (Punjab) के एक किसान परिवार में हुआ। उन्होंने पटियाला विश्वविद्यालय में कोच गुरदेव सिंह के मार्गदर्शन में प्रशिक्षण शुरू किया। बाद में वह बेंगलुरु के भारतीय खेल प्राधिकरण केंद्र में शामिल हो गए, जहां वर्तमान में उन्हें कोच तात्याना सेविलोवा द्वारा प्रशिक्षित किया जा रहा है। आकाशदीप ने खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स (India University Games) और राष्ट्रीय खेलों में स्वर्ण और कांस्य पदक जीते हैं। उन्होंने 31 जनवरी 2024 को रांची में आयोजित राष्ट्रीय ओपन रेस वॉकिंग चैंपियनशिप में 20 किमी रेस में स्वर्ण पदक जीतकर पेरिस ओलंपिक के लिए अपनी जगह पक्की कर ली। 

22 वर्षीय आकाशदीप ने 1 घंटा 19 मिनट 55 सेकंड का समय निकाला और अनुभवी एथलीट संदीप कुमार द्वारा बनाए गए 1 घंटा 20 मिनट 16 सेकंड के पिछले राष्ट्रीय रिकॉर्ड को तोड़ दिया। उसी चैंपियनशिप में संदीप कुमार 1 घंटे 23 मिनट 28 सेकंड के समय के साथ 7वें स्थान पर रहे। उत्तराखंड के सूरज पंवार ने 1 घंटे 20 मिनट 11 सेकंड के समय के साथ रजत पदक जीता, जबकि दिल्ली के विकास सिंह ने 1 घंटे 21 मिनट 8 सेकंड के समय के साथ कांस्य पदक जीता। 2024 ओलंपिक के लिए क्वालीफिकेशन विंडो 1 जुलाई 2023 से 30 जून 2024 तक है। आकाशदीप और प्रियंका के अलावा नीरज चोपड़ा और अविनाश सेबल जैसे अन्य भारतीय एथलीटों ने भी विश्व चैंपियनशिप के लिए क्वालीफाई किया है।

आकाशदीप सिंह (Akashdeep Singh) की उपलब्धियां उनके कड़े परिश्रम और समर्पण को दर्शाती हैं। एक किसान के बेटे से ओलंपियन बनने तक का उनका सफर कई युवा एथलीटों के लिए प्रेरणास्रोत है। उनके भविष्य के प्रदर्शन पर सबकी निगाहें टिकी हैं क्योंकि वह भारत के लिए और सम्मान अर्जित करने की कोशिश करेंगे।

आकाशदीप सिंह विकिपीडिया (Akshdeep Singh Wikipedia)

आकाशदीप सिंह (Akashdeep Singh) (22 नवंबर 1999) पंजाब के एक भारतीय एथलीट हैं जो 20 किलोमीटर पैदल चाल में प्रतिस्पर्धा करते हैं। उनके पास 20 किमी रेस वॉक में भारतीय राष्ट्रीय रिकॉर्ड है।

उन्होंने 20 किमी रेस वॉक और मिश्रित मैराथन रेस वॉकिंग में 2024 ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेलों के लिए क्वालीफाई किया, जो प्रियंका गोस्वामी के साथ पेरिस ओलंपिक में अपनी शुरुआत कर रहा है। सिंह और प्रियंका गोस्वामी ने 21 अप्रैल 2024 को अंताल्या, तुर्की में वर्ल्ड रेस वॉकिंग टीम चैंपियनशिप में 18वें स्थान पर रहकर पेरिस ओलंपिक मैराथन स्पर्धा के लिए क्वालीफाई किया। भारतीय जोड़ी ने क्वालीफाइंग मार्क को पूरा करने के लिए 3:05:03 का समय लिया। 30 जनवरी 2024 को, उन्होंने चंडीगढ़ में दक्षिण एशियाई और भारतीय रेस वॉकिंग चैंपियनशिप में 1:19:38 का समय लेकर राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया।

14 फरवरी 2023 को, उन्होंने रांची में इंडियन रेस वॉकिंग चैंपियनशिप में 1:19:55 के समय के साथ 20 किमी रेस वॉक में स्वर्ण पदक जीता। बाद में, 19 मार्च 2023 को, उन्होंने 47वीं ऑल जापान रेस वॉकिंग मीट में भाग लिया और 12वें स्थान पर रहे। अक्टूबर 2022 में, उन्होंने बेंगलुरु के श्री कंथीरावा आउटडोर स्टेडियम में नेशनल ओपन एथलेटिक्स चैंपियनशिप में रजत पदक जीता। 2022 में, उन्होंने 5 जनवरी को कर्नाटक के मूडबिद्री में इंटर-यूनिवर्सिटी गोल्ड और मई में बेंगलुरु में खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स में भी स्वर्ण पदक जीता।

आकाशदीप सिंह की प्रारंभिक शिक्षा (Akshdeep Singh’s Parly education)

आकाशदीप सिंह (Akashdeep Singh) एक 22 वर्षीय पंजाब का एथलीट है जिसका पिता किसान और माता गृहिणी हैं। उन्होंने पटियाला के पंजाब विश्वविद्यालय में प्रसिद्ध कोच गुरदेव सिंह के मार्गदर्शन में प्रशिक्षण शुरू किया। बाद में उन्होंने कोच तत्याना सेविलोवा के तहत उन्नत प्रशिक्षण के लिए बेंगलुरु के भारतीय खेल प्राधिकरण केंद्र में प्रवेश लिया। 2022 में आकाशदीप ने बेंगलुरु में अंतर-विश्वविद्यालय चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक और गुजरात में राष्ट्रीय खेलों में कांस्य पदक जीता। जनवरी 2024 में उन्होंने राष्ट्रीय ओपन रेस वॉकिंग चैंपियनशिप में 20 किमी रेस वॉक में राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़ते हुए पेरिस ओलंपिक 2024 के लिए क्वालीफाई किया। हालांकि उनकी शैक्षिक पृष्ठभूमि का विशेष उल्लेख नहीं है, लेकिन उनके प्रशिक्षण और उपलब्धियों से पता चलता है कि उन्होंने अपने खेल करियर पर ध्यान केंद्रित किया है।

आकाशदीप सिंह का परिवार (Akshdeep Singh’s family)

आकाशदीप सिंह (Akashdeep Singh), जो हाल ही में 2024 पेरिस ओलंपिक के लिए 20 किमी पैदल चाल में क्वालीफाई करने वाले भारत के पहले एथलीट बने, एक साधारण पृष्ठभूमि से आते हैं। वह पंजाब के एक किसान पिता और गृहिणी माता के पुत्र हैं। उन्होंने पटियाला विश्वविद्यालय में प्रसिद्ध कोच गुरदेव सिंह के मार्गदर्शन में प्रारंभिक प्रशिक्षण प्राप्त किया। बाद में वह बेंगलुरु में स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया सेंटर में शामिल हो गए, जहां वह वर्तमान में खेलो इंडिया गेम्स के माध्यम से राष्ट्रीय रेसवॉकिंग कोच तात्याना सिबिलेवा के निर्देशन में प्रशिक्षण ले रहे हैं।

Frequently Asked Questions

आकाशदीप सिंह ने किस स्पर्धा में पेरिस ओलंपिक 2024 के लिए क्वालीफाई किया है?

आकाशदीप सिंह (Akashdeep Singh) ने राष्ट्रीय ओपन रेस वॉकिंग चैंपियनशिप 2023 में पुरुषों की 20 किमी रेस वॉक स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतकर पेरिस ओलंपिक 2024 के लिए क्वालीफाई किया है। उन्होंने 1 घंटा 20 मिनट 11 सेकंड का समय निकाला जो ओलंपिक क्वालिफिकेशन मानक से बेहतर है।

आकाशदीप सिंह किस राज्य से हैं और उनकी कोचिंग कहां हुई?

आकाशदीप सिंह पंजाब के एक किसान के बेटे हैं। उन्होंने पटियाला यूनिवर्सिटी में कोच गुरदेव सिंह के मार्गदर्शन में ट्रेनिंग शुरू की। बाद में वो स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया के बेंगलुरु सेंटर में शामिल हुए जहां वर्तमान में उनकी कोचिंग टैटियाना सेविलोवा के अंतर्गत हो रही है।

आकाशदीप सिंह ने अपने करियर में अब तक कौन से प्रमुख पदक जीते हैं?

आकाशदीप सिंह ने खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स में स्वर्ण पदक और नेशनल गेम्स में कांस्य पदक जीता है। उन्होंने नेशनल ओपन रेस वॉकिंग चैंपियनशिप में भी स्वर्ण पदक हासिल किया है जिससे उन्होंने पेरिस ओलंपिक का टिकट पक्का किया।

पेरिस ओलंपिक 2024 के लिए पुरुषों की 20 किमी रेस वॉक का क्वालिफिकेशन मानक क्या है?

पेरिस ओलंपिक 2024 और विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2023 दोनों के लिए पुरुषों की 20 किमी रेस वॉक का क्वालिफिकेशन मानक 1 घंटा 20 मिनट 10 सेकंड निर्धारित है। आकाशदीप सिंह ने इस मानक को पार कर पेरिस ओलंपिक के लिए सीधा क्वालीफाई किया है।

राष्ट्रीय ओपन रेस वॉकिंग चैंपियनशिप 2023 में आकाशदीप सिंह के अलावा अन्य कौन से एथलीट ने पदक जीते?

उत्तराखंड के सूरज पंवार ने 1 घंटा 20 मिनट 11 सेकंड के समय के साथ रजत पदक जीता, हालांकि वो ओलंपिक क्वालिफिकेशन मानक से मामूली अंतर से चूक गए। दिल्ली के विकास सिंह ने 1 घंटा 21 मिनट 8 सेकंड का समय निकालकर कांस्य पदक हासिल किया।

pankaj-profile-image

दोस्तों मेरा नाम पंकज पांडे है। में एक आर्ट्स का स्टूडेंट हूँ। मेने मेरे पिताजी से एस्ट्रोलॉजी, भविष्यवाणी जैसी चीजे सीखी है। और इस न्यूज़ वेबसाइट पर में राशिफल और वास्तु शास्त्र से जुड़े आर्टिकल लिखता हूँ। मुझे इस तरह की जानकारी लोगों के साथ शेयर करना काफी अच्छा लगता है।

WhatsApp Channel Join Now
Share This Article
2 Comments